16Dec

The Gift of Friendship by Neha

Native Language – Punjabi

दोस्ती मेरी ज़िन्दगी में एक अमूल्य स्तर लेती है, क्योंकक मेरे नाम “नेहा” का अर्थ हैदोस्ती, दनुनया में ममत्रता का भाव फै लाना जैसा मेरा कतथव्य हो.दोस्ती एक ख़िाना है, और जीवन के हर दसू रे मोड़ पर बनने वाले नये दोस्त इस बात का सजीव प्रदर्थन करते हैं.हाल ही में बने हुए दोस्त अक्सर एक नया सहारा देते हैं. हर रो़ि सार् में घूमने के ईरादे बनते हैं. एक इच्छा प्रकट होती है बातों में उलझ कर हर र्ाम आनंद से बबताने की.
जैसे मेरी ददनचयाथ में कामकाज का स्र्ान बड़ा होता जाता है, वैसे ही दोस्तों से दरूी भी बढ जाती है. कुछ पुराने दोस्तों के सार् बबताया वक़्त भुलाकर के उन यादों के गमल-मोहल्लों में भटके बबना अपने आज को गु़िारना नामुमककन सा हो गया है.

English Translation

Friendship has an extremely valuable spot in my life, because my name “Neha” itself means friendship, which makes me feel as if spreading the word of friendship and harmony is the duty I have been assigned with.
Friendship is a treasure, and the new friends made at every new point of life are a live depiction of this.
Newly-made friends often become the source of a new form of support. Everyday, new plans of going to places together are made. The wish to engage endlessly in talks and spending every evening happily is born.
As work and chores take on a more central role in my daily life, the distance between me and my friends grows. Letting go of the times spent with some old friends and spending my days without going back to the streets where old memories took place, has become quite impossible for me.

Written by : Rtr. Neha Hegde

Leave a reply